प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना | Pradhanmantri Matru Vandana Yojana

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना | Pradhanmantri Matru Vandana Yojana | मातृ वंदना योजना फॉर्म online | प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना लिस्ट | PM Matru Vandana Yojana

 

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ( PM Martu Vandna Yojana ) के माध्यम से गर्भवती कुपोषित महिलाओ को अपनी देखभाल के लिए सरकार के द्वारा 5000 रुपये की धनराशि दी जाती है ! इस धनराशि से गर्भवती महिला अपना ठीक ढंग से खान पान करके अपना कुपोषण दूर कर सकेंगी ! यह योजना भारत में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के प्रावधान के अनुसार लागु की गयी है  !

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आप देखेंगे की प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना क्या है , मातृ वंदना योजना फॉर्म online कैसे करे , प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना लिस्ट आदि इस आर्टिकल में आपको देखने को मिल जायेंगे !

Pradhanmantri Matru Vandana Yojana Intro – प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

भारत में अधिकांश महिलाओं पर अल्प पोषण का प्रतिकूल प्रभाव जारी है। भारत में हर तीसरी महिला कुपोषित है और हर दूसरी महिला एनीमिक है। एक कुपोषित मां लगभग अनिवार्य रूप से कम वजन वाले बच्चे को जन्म देती है। जब खराब पोषण गर्भाशय में शुरू होता है, तो यह पूरे जीवन चक्र में फैलता है क्योंकि परिवर्तन काफी हद तक अपरिवर्तनीय होते हैं। आर्थिक और सामाजिक संकट के कारण कई महिलाएं गर्भावस्था के अंतिम दिनों तक अपने परिवार के लिए जीविका चलाने के लिए काम करती रहती हैं। इसके अलावा, वे बच्चे के जन्म के तुरंत बाद काम करना शुरू कर देते हैं, भले ही उनके शरीर इसकी अनुमति न दें, इस प्रकार उनके शरीर को एक तरफ पूरी तरह से ठीक होने से रोकते हैं, और पहले छह महीनों में अपने युवा शिशु को विशेष रूप से स्तनपान कराने की उनकी क्षमता को भी बाधित करते हैं। इसलिए भारत सरकार के द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरआत की गयी गयी है !

PM Matru Vandana Yojana Objectives – प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के उदेश्य 

  • इस का मुख्य उद्देश्य नकद प्रोत्साहन के रूप में वेतन हानि के लिए 5000 रूपए आंशिक मुआवजा प्रदान करना ताकि महिला पहले जीवित बच्चे के जन्म से पहले और बाद में पर्याप्त आराम कर सके। 
  • सरकार के द्वारा प्रदान किए गए नकद प्रोत्साहन से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं ( PW & LM ) के बीच बेहतर स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलेगा।
  • इससे देश में कुपोषित बच्चो की संख्या में कमी होगी जिससे की बच्चो में भविष्य में होने वाली बीमारियों का खतरा कम होगा !

यह भी पढ़े —

PM Awas Yojana List 2021

Create Health ID Card Free 

E Shram Card के लाभ 

PM Matru Vandana Yojana Benefits

  • आंगनबाडी केंद्र (एडब्ल्यूसी)/अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में गर्भावस्था के प्रारंभिक पंजीकरण पर तीन किस्तों में 5000 रुपये की नकद प्रोत्साहन यानि 1000/- रुपये की पहली किस्त, संबंधित प्रशासन राज्य / केंद्रशासित प्रदेश द्वारा पहचान की जा सकती है, 2000 रुपये की दूसरी किस्त / – गर्भावस्था के छह महीने के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच (एएनसी) और 2000/- रुपये की तीसरी किस्त प्राप्त होने पर बच्चे के जन्म के पंजीकृत होने के बाद और बच्चे को बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी और हेपेटाइटिस का पहला चक्र प्राप्त हुआ है – बी, या इसके समकक्ष / स्थानापन्न।
  • पात्र लाभार्थियों को जननी सुरक्षा योजना (JSY) के तहत संस्थागत प्रसव के लिए दिया जाने वाला प्रोत्साहन मिलेगा और JSY के तहत मिलने वाले प्रोत्साहन को मातृत्व लाभ में शामिल किया जाएगा ताकि एक महिला को औसतन 6000/- रुपये मिले।

मातृ वंदना योजना फार्म 

  • मातृत्व लाभ प्राप्त करने की इच्छुक पात्र महिलाओं को उस विशेष राज्य / केंद्र शासित प्रदेश के कार्यान्वयन विभाग के आधार पर आंगनवाड़ी केंद्र (एडब्ल्यूसी) / अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में योजना के तहत पंजीकरण कराना आवश्यक है।
  • पंजीकरण के लिए, लाभार्थी को सभी प्रकार से पूर्ण निर्धारित आवेदन फॉर्म 1 – ए, संबंधित दस्तावेजों और उसके और उसके पति द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित वचनबद्धता/सहमति के साथ आंगनवाड़ी केंद्र/अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में जमा करना होगा। फॉर्म जमा करते समय, लाभार्थी को अपनी लिखित सहमति के साथ अपने और अपने पति के आधार विवरण, अपने पति / परिवार के सदस्य के मोबाइल नंबर और अपने बैंक / डाकघर खाते के विवरण जमा करने होंगे।
  • मातृ वंदना योजना फॉर्म निर्धारित प्रपत्र आंगनवाड़ी केन्द्र/अनुमोदित स्वास्थ्य केन्द्र से निःशुल्क प्राप्त किया जा सकता है। फॉर्म महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है।
  • लाभार्थी को पंजीकरण और किस्त के दावे के लिए निर्धारित योजना फॉर्म भरना होगा और उसे आंगनवाड़ी केंद्र/अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में जमा करना होगा। लाभार्थी को रिकॉर्ड और भविष्य के संदर्भ के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/आशा/एएनएम से पावती प्राप्त करनी चाहिए।
  • पहली किस्त के पंजीकरण और दावे के लिए, एमसीपी कार्ड (माँ और बाल संरक्षण कार्ड) की प्रति के साथ विधिवत भरा हुआ फॉर्म 1 – ए, लाभार्थी और उसके पति की पहचान का प्रमाण (आधार कार्ड या दोनों का वैकल्पिक आईडी प्रमाण और बैंक / पोस्ट लाभार्थी के कार्यालय खाते का विवरण जमा करना आवश्यक है।
  • दूसरी किस्त का दावा करने के लिए, लाभार्थी को गर्भावस्था के छह महीने के बाद विधिवत भरा हुआ फॉर्म 1 – बी जमा करना होगा, साथ ही कम से कम एक एएनसी दिखाने वाले एमसीपी कार्ड की प्रति भी जमा करनी होगी।
  • तीसरी किस्त का दावा करने के लिए, लाभार्थी को बच्चे के जन्म पंजीकरण की प्रति और एमसीपी कार्ड की प्रति के साथ विधिवत भरा हुआ फॉर्म 1 – सी जमा करना होगा, जिसमें दिखाया गया हो कि बच्चे को टीकाकरण का पहला चक्र या इसके समकक्ष / विकल्प मिला है।

यदि किसी लाभार्थी ने योजना के तहत निर्धारित शर्तों का अनुपालन किया है, लेकिन निर्धारित समय के भीतर दावों को पंजीकृत/प्रस्तुत नहीं कर सकता है तो दावा प्रस्तुत कर सकता है – एक लाभार्थी किसी भी समय आवेदन कर सकता है, लेकिन गर्भावस्था के 730 दिनों के बाद नहीं, यहां तक ​​​​कि यदि उसने पहले किसी किश्त का दावा नहीं किया था, लेकिन लाभ प्राप्त करने के लिए पात्रता मानदंड और शर्तों को पूरा करती है। ऐसे मामलों में जहां एलएमपी की तारीख एमसीपी कार्ड में दर्ज नहीं है। कोई लाभार्थी योजना के तहत तीसरी किस्त के दावे के लिए आ रहा है, ऐसे मामलों में दावा बच्चे के जन्म की तारीख से 460 दिनों के भीतर प्रस्तुत किया जाना चाहिए !

 

मातृ वंदना योजना आवेदन फॉर्म

ACFrOgCTV7yaj8QIS55KMbqhX1YTBvy4iU9CYddicZd63xJWoEF1l1v7YGTUYdTdLeD6shE-Prl--miUBLstuZuNO5gabQrVH9pdI3fsbh0oSmN9JAgMgB0st6LsNt04jfsesyWVDQzes7TPG5zC

 

PMMY FAQ

  • मातृत्व वंदना योजना का पैसा कैसे चेक करें?’

इस योजना का पैसा चेक करने करने के लिए आपको इसकी आधिकारिक Website जाकर देख सकते है ! या फिर इसके Toll free number से कॉल करके भी जानकारी ले सकते है ! 

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना फॉर्म कैसे भरें?

 मातृ वंदना योजना फॉर्म निर्धारित प्रपत्र आंगनवाड़ी केन्द्र/अनुमोदित स्वास्थ्य केन्द्र से निःशुल्क प्राप्त किया जा सकता है। फॉर्म महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है।

  • गर्भवती महिला का फॉर्म कैसे भरें?

लाभार्थी को पंजीकरण और किस्त के दावे के लिए निर्धारित योजना फॉर्म भरना होगा और उसे आंगनवाड़ी केंद्र/अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में जमा करना होगा। लाभार्थी को रिकॉर्ड और भविष्य के संदर्भ के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/आशा/एएनएम से पावती प्राप्त करनी चाहिए।

  • मातृ वंदना योजना का लाभ कैसे उठाएं?

     मातृत्व लाभ प्राप्त करने की इच्छुक पात्र महिलाओं को उस विशेष राज्य / केंद्र शासित प्रदेश के कार्यान्वयन      विभाग के आधार पर आंगनवाड़ी केंद्र (एडब्ल्यूसी) / अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में योजना के तहत पंजीकरण कराना आवश्यक है।

      

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में कितना पैसा मिलता है?

आंगनबाडी केंद्र (एडब्ल्यूसी)/अनुमोदित स्वास्थ्य सुविधा में गर्भावस्था के प्रारंभिक पंजीकरण पर तीन किस्तों में 5000 रुपये की नकद प्रोत्साहन यानि 1000/- रुपये की पहली किस्त, संबंधित प्रशासन राज्य / केंद्रशासित प्रदेश द्वारा पहचान की जा सकती है, 2000 रुपये की दूसरी किस्त / – गर्भावस्था के छह महीने के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच (एएनसी) और 2000/- रुपये की तीसरी किस्त प्राप्त होने पर बच्चे के जन्म के पंजीकृत होने के बाद और बच्चे को बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी और हेपेटाइटिस का पहला चक्र प्राप्त हुआ है – बी, या इसके समकक्ष / स्थानापन्न।

 

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना टोल फ्री नंबर

              PMMVY Cell: 011-23382393

 

दोस्तों में आशा करता हु की आज का ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा यदि पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ! 

 

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap